उत्पाद जानकारी पर जाएं
1 का 7

Sat Kartar Shopping

आयुष 82 शुगर टेबलेट | शुगर का देशी इलाज़ | आयुर्वेद में शुगर की सबसे अच्छी दवा | शुगर को जड़ से खत्म करने का इलाज | मधुमेह की अचूक दवा | शुगर खत्म करने के उपाय

आयुष 82 शुगर टेबलेट | शुगर का देशी इलाज़ | आयुर्वेद में शुगर की सबसे अच्छी दवा | शुगर को जड़ से खत्म करने का इलाज | मधुमेह की अचूक दवा | शुगर खत्म करने के उपाय

ऐडवेड आयुष 82 में 3 महीने के कोर्स के लिए 3 बोतल और 540 टैबलेट का पैक शामिल है।

नियमित रूप से मूल्य ₹ 2,700.00
नियमित रूप से मूल्य विक्रय कीमत ₹ 2,700.00
0% OFF

(कैश ऑन डिलीवरी भी उपलब्ध है)

आयुष 82 टैबलेट रक्त शर्करा नियंत्रण और मधुमेह प्रबंधन के लिए एक अनूठा फार्मूला है। इसे केंद्रीय आयुर्वेदिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (C.C.R.A.S) और राष्ट्रीय अनुसंधान विकास निगम (N.R.D.C) द्वारा विकसित और चिकित्सकीय परीक्षण किया गया है।

भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त और अनुमोदित, आयुष 82 भारत में शुगर नियंत्रण के लिए एक विश्वसनीय और सर्वोत्तम आयुर्वेदिक दवा है।

ब्लड शुगर नियंत्रण के लिए आयुष 82 का उपयोग करें, मधुमेह संबंधी जटिलताओं को कम करें, मधुमेह के लक्षणों जैसे थकान, दर्द, धुंधली दृष्टि, बार-बार पेशाब आना, प्यास और भूख की लगातार पीड़ा से राहत पाएं।

विवरण

उत्पाद: टैबलेट
मात्रा: एक पैकेज में तीन बोतलें
खुराक: 2 गोलियाँ दिन में तीन बार
साइड इफेक्ट्स: कोई नहीं
मूल्य: ₹2,900 रुपये

आयुष 82 के फायदे

  • ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है
  • ब्लड शुगर को सामान्य करता है
  • इंसुलिन प्रतिरोध को कम करता है
  • प्यास, भूख, पेशाब को नियंत्रित करता है
  • मधुमेह के लक्षणों से राहत प्रदान करता है
  • भोजन के बाद शुगर को नियंत्रित करता है
  • थकान कम करता है
  • बीटा कोशिकाओं को पुनर्स्थापित करता है
  • रेटिनोपैथी, नेफ्रोपैथी, न्यूरोपैथी को संबोधित करता है
  • महत्वपूर्ण अंगों को पुनर्जीवित करता है, जीवन की गुणवत्ता में सुधार करता है

इसका उपयोग कैसे करें

खुराक: 2 गोलियाँ, दिन में तीन बार। (प्रति दिन 6 टैबलेट्स)

समय: भोजन से 30 मिनट पहले लें।

अवधि: परिणाम देखने के लिए, बिना किसी अंतराल के खुराक के पूरे 3 महीने के कोर्स का पालन करें। दवा असर को प्रभावी बनाने के लिए उचित व्यायाम और स्वस्थ आहार योजना जैसे जीवनशैली में बदलाव करने की भी सिफारिश की जाती है।

ध्यान दें: याद रखें कि मधुमेह एक दीर्घकालिक बीमारी है और इसे स्थायी रूप से ठीक नहीं किया जा सकता है। आपको यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि आप अपने मधुमेह के स्तर को नियंत्रण में रखने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने और बनाए रखने के लिए दवाएँ लेते रहें और स्वस्थ जीवनशैली अपनाएँ।

मार्गदर्शन: यदि आपको कोई स्वास्थ्य संबंधी चिंता है तो स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर के खुराक निर्देशों का पालन करें

सामग्री

आम्र बीज (आम), जम्बू बीज (जामुन), गुड़मार के पत्ते (गुड़मारा), करवेलका (करेला), शुद्ध शिलाजीत

आयुष 82 के परिणाम हर व्यक्ति की उम्र, जीवनशैली और स्थिति के आधार पर अलग-अलग हो सकते हैं।

Customer Reviews

Based on 49 reviews Write a review
पूरी जानकारी देखें

मधुमेह नियंत्रण सूत्रीकरण

अद्वेद आयुष 82 का अनोखा हर्बल फॉर्मूलेशन रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह रक्त शर्करा के स्तर को सामान्य करता है और मधुमेह के दुष्प्रभावों से लड़ने में मदद करता है।

ayush 82 sugar tablets

ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है

आद्वेद आयुष 82 का चिकित्सकीय परीक्षण केंद्रीय अनुसंधान एवं आयुर्वेदिक विज्ञान परिषद (सीसीआरएएस) द्वारा किया गया है।

  • स्वास्थ्य परिणाम

    आयुर्वेदिक समाधान सोच-समझकर दिए गए

  • बेस्पोक आयुर्वेद

    आयुर्वेदाचार्यों द्वारा तैयार किये गये कार्यक्रम

  • वास्तविक सहायता

    आयुर्वेदिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ

  • प्राकृतिक घटक

    सावधानी से चुना और सोर्स किया गया

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आयुष 82 आदवेद क्या है?

आयुष 82 आपके ब्लड शुगर के स्तर को प्रबंधित करने के लिए एक प्राकृतिक, चिकित्सकीय परीक्षण और विशेष रूप से विकसित उत्पाद है। इस पुरस्कार विजेता उत्पाद को भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा अनुमोदित किया गया है और राष्ट्रीय अनुसंधान विकास निगम (N.R.D.C) और केंद्रीय आयुर्वेदिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (C.C.R.A.S) द्वारा मान्यता प्राप्त है।

इसे रक्त ग्लूकोज चयापचय को नियंत्रित करने, स्वास्थ्य में सुधार करने, और मधुमेह से जुड़ी दीर्घकालिक जटिलताओं को कम करने में मदद करने के लिए बनाया गया है। आदवेद द्वारा आयुष 82 टैबलेट 3000 साल पुराने आयुर्वेदिक ज्ञान पर आधारित है जिसे अब आधुनिक चिकित्सा द्वारा भी प्रमाणित किया गया है। आमरा, जामुन, गुड़मार, करेला, शुद्ध शिलाजीत जैसी सामग्री और आयुर्वेदिक शिक्षाओं पर आधारित इस हर्बल फॉर्मूलेशन को सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है ताकि आपको ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने और प्राकृतिक तरीके से अपने मधुमेह का प्रबंधन करने में मदद मिल सके।

आयुष 82 आदवेद में कौन से तत्व हैं?

आयुष 82 आदवेद टैबलेट में निम्नलिखित सामग्रियां शामिल हैं:

अमरा (मैंगीफेरा इंडिका), जामुन (साइजियम क्यूमिनी), गुड़मारा (जिमनेमा सिल्वेस्ट्रे), करेला (मोमोर्डिका चारेंटिया), शुद्ध शिलाजीत (एस्फाल्टम पंजाबियम)

आयुष 82 आदवेद के क्या फायदे हैं?

आयुष 82 आदवेद एक बेहतरीन डायबिटीज की दवा है जिसके फ़ायदे :

  • ब्लड शुगर कंट्रोल: इसमें मौजूद तत्व ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म के एंजाइम्स को प्रभावित करके ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  • इंसुलिन संवेदनशीलता: करेला जैसे तत्व शरीर में इंसुलिन संवेदनशीलता को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।
  • वजन प्रबंधन: आम्रा जैसे तत्व वजन घटाने में मदद कर सकते हैं, जो रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।
  • ग्लूकोज का कम अवशोषण: आम्रा जैसे तत्व ग्लूकोज के कम अवशोषण का कारण बन सकते हैं, जो बेहतर रक्त शर्करा प्रबंधन में मदद कर सकता है।
  • समस्याओं में मदद करता है: यह तकनीक ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करके मधुमेह से जुड़ी दीर्घकालिक समस्याओं को कम करने का प्रयास करती है।
  • प्राकृतिक दृष्टिकोण: आयुष 82 आदवेद आयुर्वेदिक सिद्धांतों का पालन करता है, बाहरी दवाओं की आवश्यकता के बिना, मधुमेह को प्रबंधित करने में मदद करने के लिए प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करता है।

यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि इस दवा के प्रति व्यक्तिगत प्रतिक्रिया व्यक्ति-दर-व्यक्ति भिन्न हो सकती है। बेहतर मधुमेह और संबंधित समस्याओं के प्रबंधन के लिए आयुष 82 का उपयोग सही मार्गदर्शन और सलाह के साथ किया जाना चाहिए।

आयुष 82 आदवेद का उपयोग कैसे करें?

आदवेद द्वारा आयुष 82 के लिए अनुशंसित उपयोग निर्देश इस प्रकार हैं:

खुराक: 2 गोलियाँ दिन में तीन बार लें।

समय: गोलियाँ भोजन से लगभग आधे घंटे पहले लें।

मार्गदर्शन: चिकित्सक या स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा निर्देशित खुराक निर्देशों का पालन करें।

भंडारण: इसकी क्षमता और गुणवत्ता बनाए रखने के लिए आदवेद द्वारा आयुष 82 टैबलेट को ठंडी और सूखी जगह पर स्टोर करें।

सर्वोत्तम प्रभावों के लिए इस आयुर्वेदिक फॉर्मूलेशन का उपयोग अनुशंसित खुराक और समय के अनुसार करें। और यदि आप कोई अन्य डॉक्टरी दवा ले रहे हैं या कोई स्वास्थ्य संबंधी चिंता है। कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लें और इस दवा को केवल अपने डॉक्टर की अनुमति से ही लें।

क्या आयुष 82 आदवेद के कोई साइड इफेक्ट्स हैं?

नहीं! आयुष 82 के उपयोग से कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है। आदवेद द्वारा आयुष 82 टैबलेट एक चिकित्सकीय रूप से परीक्षण किया गया और सिद्ध आयुर्वेदिक फॉर्मूला है जो भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा अनुमोदित और C.C.R.A.S द्वारा विकसित किया गया है।हालाँकि, इस आयुर्वेदिक फॉर्मूलेशन का उद्देश्य प्रतिकूल प्रभावों को कम करना है, कुछ व्यक्तियों संभावित दुष्प्रभाव हो सकते हैं जो दुर्लभ या हल्के हैं।

  • एलर्जी प्रतिक्रियाएँ: कुछ तत्व संवेदनशील व्यक्तियों में एलर्जी प्रतिक्रिया पैदा कर सकते हैं।
  • पाचन संबंधी समस्याएं: कुछ लोगों को गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं जैसे सूजन या हल्का पेट खराब होने का अनुभव हो सकता है।

क्या आयुष 82 भारत में शुगर नियंत्रण के लिए सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक दवा है?

हाँ, आदवेद की आयुष 82 टैबलेट्स भारत में शुगर नियंत्रण के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवाओं में से एक है। आयुष 82 आयुष मंत्रालय द्वारा तैयार किया गया है, और मधुमेह में ब्लड शुगर के स्तर को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए जाना जाता है। मधुमेह प्रबंधन के लिए इस अच्छी तरह से शोधित, पुरस्कार विजेता और चिकित्सकीय रूप से परीक्षण किए गए फॉर्मूलेशन ने व्यक्तियों पर इसके सकारात्मक प्रभावों के लिए प्रशंसा अर्जित की है। इसकी सिद्ध प्रभावकारिता और प्राकृतिक दृष्टिकोण इसे एक असाधारण समाधान बनाता है, जो मधुमेह के प्रबंधन के विश्वसनीय, प्राकृतिक तरीकों की तलाश करने वालों के लिए स्वास्थ्य देखभाल मार्गदर्शन के तहत विचार को प्रोत्साहित करता है।

आदवेद द्वारा आयुष 82 टैबलेट की कीमत क्या है?

आयुष 82 आदवेद की तीन बोतल वाले पैकेज की कीमत ₹ 29,00.00 है। 3 महीने के कोर्स के लिए प्रति पैक 540 टैबलेट हैं।

आपको दिन में तीन बार आयुष 82 की 2 टैबलेट का सेवन करना होगा। ₹5/टैबलेट पर, यह भारत में उपलब्ध सबसे सस्ती हर्बल मधुमेह दवा है।